We are in news

April 8, 2018

सूर्य नमस्कार (Hindi Milap)

3. तीसरी स्थिति – पादहस्तासन दूसरी स्थिति में रह कर अब सामने झुकते हुए सांस छोड़ते हुए, दोनों हाथों से चरणों का स्पर्श करें। माथे से घुटनों को छूने का प्रयास हो। गर्दन में दर्द हो तो सिर ज्यादा न झुकावें । 4. चौथी स्थिति – अध्र संचालनासन या अं|जनेयासन...
Read More
April 1, 2018

सूर्य नमस्कार (Hindi Milap)

सूरज बड़ा तेजस्वी तथा शक्तिमान है। इसीलिए सभी धर्मावलंबी प्राचीन काल से सूरज की स्तुति करते रहे हैं। सूर्य रश्मि की शक्ति अपार और अनुपम है| सूर्य शक्ति न हो तो जीवन ही नहीं। इसीलिए सूर्य नमस्कार की विधि अमल में आर्यी | सुबह और शाम जब सूर्योदय तथा सूर्यास्त...
Read More
March 25, 2018

शंख प्रक्षालन (Hindi Milap)

ध्यान देने की बातें उपर्युक्त 4 आसन एक ग्रुप के हैं। एक-एक ग्रुप के पहले एक-एक गिलास के हिसाब से नमकीन पानी पीते रहें। 5 या 6 बार यह क्रिया करने के बाद शुद्धि शुरू होती है। कड़ा मल पदार्थ बाहर निकलने लगता है| यह क्रिया जारी रखते-रखते 4-5 बार...
Read More
March 18, 2018

शंख प्रक्षालन (Hindi Milap)

शंख प्रक्षालन शारीरिक शुद्धि से संबंधित यौगिक क्रियाओं में श्रेष्ठ है। यह बड़ी सावधानी से की जानेवाली क्रिया है। इससे संबंधित 4 आसन हैं। उन्हें आचरण में लाकर फायदा उठाना जरूरी है। उन आसनों के पहले नमकीन जल पीना चाहिए। उस जल के द्वारा मुँह से लेकर मल द्वार तक...
Read More
March 4, 2018

सूक्ष्म योग व्यायाम क्रियाएँ (Hindi Milap)

आटो एक्यूप्रेशर क्रियाएँ अ. दोनों हाथों की ऊँगलियाँ आपस में मिला कर दबावे | 5-10 सेकंड के बाद ढोला करें। 5 या 6 बार इस प्रकार करें। आ. ऊपर की क्रिया की तरह हाथ तथा ऊँगलियाँ मिला कर 10 या 20 बार | आगे-पीछे करें। इ. ऊपर की क्रिया की...
Read More
January 21, 2018

యోగారోగ్య ప్రాప్తిరస్తు! (Eenadu)

అవును.. కాలాతీత ఆరోగ్య సాధనం యోగ. రుషుల కాలం నుంచీ భారతీయ సంస్కృతిలో, జీవన విధానంలో అంతర్భాగమైన చైతన్య గంగ. పతంజలి మహర్షి సిద్ధం చేసిన ‘అష్టాంగ యోగ’ మూలం నుంచి ఎన్నెన్నో కొంగొత్త చిగుళ్లను తొడుక్కుంటూ విశ్వరూపం ధరించింది. హఠయోగ, విన్యాసయోగ, పవర్‌యోగ, అయ్యంగార్‌ యోగ.. ఇలా పలు శాఖలుగా విస్తరించి ‘అంతర్జాతీయ’ వైభవాన్ని సంతరించుకుంది. పద్ధతేదైనా మనిషిని సంపూర్ణ ఆరోగ్యవంతుడిగా చేయటమే యోగా లక్ష్యం. ఆసనాలతో- అన్ని...
Read More